खुशियां बदली मातम में, उजाले ने परिवार को अंधेरे में ढकेला, अन्न के एक एक दाने को मोहताज

राम केवल यादव शाहगढ-अमेठी की रिपोर्ट


दीवाली आयी, खुशिया लायी । पूरा देश जहाँ कल दीवाली के पटाखे फोड़ रहा था हर घर मे उजियारा फैला हुआ था, वही पटाखे से निकली आग से पांच परिवार की खुशिया जलकर राख हो गयी वही पीड़ित परिवार एक एक दाने को मोहताज है। अभी तक कोई भी राजस्व विभाग का कर्मी या कोई नेता जनप्रतिनिधि इनके आंसू को पोछने नही गया। मामला मुंशीगंज कोतवाली के गुरूदत्त गंज मजरे जुठीपुर का है जहाँ बुधवार शाम लगभग साढ़े सात बजे लोग पटाखे दगा रहे थे उसी में से निकली आग से पांच घर जलकर स्वाहा हो गए। जिनमे जगदेई पत्नी स्व गया प्रसाद, वासुदेव, सन्त बहादुर, बाबू लाल, सीताराम पुत्रगण गया प्रसाद लोध का छप्पर के मकान को आग की लपटों ने देखते ही देखते आने आगोश में ले लिया। गाँव वालों दमकल कर्मियों के सहयोग से आग पर काबू पाया जा सका। विदित हो कि कुछ पूर्व भी इस गाँव मे लगी आग से 10 घर जलकर स्वाहा हो गया था। घटना के बाद से अभी तक कोई भी प्राशसनिक राहत पीड़ित परिवार को नही मिली है। परिवार एक एक दाने को मोहताज है। गाँव के ही परिवार मदद कर रहे है जिससे घर के मासूमो व बुजुर्गो को खाने का निवाला मिल रहा है। पीडित परिवारों को जिलाधिकारी अमेठी से अपेक्षा की उम्मीद है