सुल्तानपुर का भी नाम बदलने की उठी मांग, क्या हो सकता है नया नाम, पढ़ें पूरी खबर

123

सुल्तानपुर, उत्तर प्रदेश। इलाहाबाद और फैजाबाद के बाद अब सुल्तानपुर का नाम बदलने की तैयारी भी शुरू हो गई है। जिले में लम्भुआ से भाजपा विधायक देवमणि दुबे द्वारा अगस्त माह में नियमावली 103 के तहत विधानसभा में रखे प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया गया है।

आगामी शीत सत्र में इस पर चर्चा किए जाने की खबर है। विधायक ने अपनी ऐतिहासिक साहित्यिक व पौराणिक साछ्यो को आधार बताते हुए दावा किया है कि सुल्तानपुर का पुराना नाम कुशभवनपुर था !इसलिए प्राचीन नाम को बहाल किया जाना चाहिए। उनका कहना है कि इस नगर को भगवान राम के पुत्र कुश ने बसाया था। इसलिए इसे कुशभवनपुर, कुशपुर, कुशपुरा तथा कुशावती इत्यादि नामों से जानते थे। 14 वीं शताब्दी में खिलजी वंश के शासक जब यहां व्यापार करने के लिए आए तो स्थानीय शासकों से उनका युद्ध हुआ, इसमें खिलजी वंश के सुलतान विजयी हुए। इसलिए अपने प्रभुत्व का एहसास हमेशा के लिए इतिहास में दर्ज कराने के मकसद से उन्होंने कुशभवनपुर का नाम बदलकर सुल्तानपुर कर दिया।

विधायक देवमणि ने कहा कि साक्ष्य के तौर पर गजेटियर महाकवि कालिदास लेखक तारकेश्वर सिंह इत्यादि की किताबों को भी साक्ष्य के तौर पर प्रस्तुत किया है। क्योंकि इसमें भी बताया गया है कि सुल्तानपुर का पुराना नाम कुशभवनपुर ही था। जिले के प्राचीन नाम को पुनः बहाल करने की लड़ाई लड़ रही कुश भवनपुर उत्थान सेवा समिति के कार्यकारिणी सदस्य राहुल दुबे व शिवाकांत पांडे ने बताया कि इसके लिए डीएम से लेकर जनप्रतिनिधि तक से संपर्क साधा सिर्फ लंभुआ विधायक देवमणि ने ही हमारे ज्ञापन को गंभीरता से लिया। विधायक ने विचार करने के लिए ज्ञापन प्रशासन को भेज दिया है।

– सुल्तानपुर से बृजेश मिश्रा की रिपोर्ट