इलाहाबाद : मऊआइमा थाने में वेरिफिकेशन के नाम पर छात्रों से हो रही मोटी रकम की वसूली, होमगार्ड के जिम्मे वसूली का काम, फोन कर कहा ऊपर तक जाता है पैसा

70

छात्र से पैसे मांगे जाने और न देने पर सर्टिफिकेट न बनाने की धमकी का ऑडियो वायरल,

इलाहाबाद। मऊआइमा पुलिस वेरिफिकेशन के नाम पर पासपोर्ट बनवाने वालों तथा छात्रों
से जमकर वसूली की जा रही है। थाने में तैनात होमगार्ड के जरिए वेरिफिकेशन
कराने पहुंचने वालों से उच्चाधिकारियों के नाम पर मोटी रकम वसूली जाती
है। एक छात्र से खुलेआम पैसे मांगे जाने का ऑडियो वायरले होने के बाद
नाराज स्थानीय रालोद नेता ने उच्चाधिकारियों से मामले की शिकायत कर दोषी
के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।
किरांव निवासी एक छात्र ने कैरेक्टर सर्टिफिकेट बनवाने के लिए आवेदन किया
था। दो दिन पूर्व उसके मोबाइल पर थाने से एक होमगार्ड की कॉल आई और कहा
गया कि एक हजार रुपये लेकर आओ वर्ना तुम्हारी रिपोर्ट नहीं लगेगी।
रिक्वेस्ट करने पर होमगार्ड ने ऊपर तक रुपए पहुंचने का हवाला दिया। यह
बातें छात्र के फोन में रिकॉर्ड हो गईं। दूसरे दिन जब छात्र जरूरी कागजात
लेकर थाने पहुंचा तो फोन करने वाले होमगार्ड ने पहले तो पैसे मांगे। न
देने पर उसे लौट जाने को कहा। नहीं लौटने पर खरी खोटी सुनाई। घटना से आहत
छात्र ने इसकी शिकायत स्थानीय पत्रकारों तथा राष्ट्रीय लोकदल के जिला
महासचिव उदित नारायण द्विवेदी से की। शिकायत मिलने पर रालोद नेता ने एक
शिकायती पत्र उच्चाधिकारियों को देकर मामले की जांच करने तथा दोषी पर
कार्रवाई की मांग की।
इस संबंध में क्षेत्राधिकारी सोरांव जितेंद्र
गिरी के मुताबिक पूर्व में भी आरोपित के खिलाफ शिकायत आई थी। जांच की
जा रही है। दोषी पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी।

पहले भी हो चुकी है कार्रवाई
इलाहाबाद। मऊआइमा थाने में तैनात आरोपित होमगार्ड पर पूर्व में भी
पासपोर्ट वेरिफिकेशन के नाम पर वसूली करने और कमियां निकाल कर मोटी रकम
वसूलने के आरोप लगे थे। मामले की शिकायत उच्चाधिकारियों से की गई। सीओ
सोरांव को जांच मिली। जांच में मामला सही पाए जाने पर आरोपित होमगार्ड को
पासपोर्ट वेरिफिकेशन के काम से हटा दिया गया था लेकिन फिर वह कैरेक्टर
वेरिफिकेशन आदि कार्यों के नाम पर वसूली करने लगा।