नगर विकास मंत्री ने किया कुम्भ कार्यो का स्थलीय निरीक्षण, क्या बोले कौन थे साथ, पढ़ें खबर

29

मेला क्षेत्र में स्वच्छता का विशेष ध्यान रखा जाय, लापरवाही करने वाले लोगों के खिलाफ की जाय दण्डात्मक कार्रवाई – सुरेश कुमार खन्ना, नगर विकास मंत्री।

इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश। नगर विकास मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने आज अपने इलाहाबाद भ्रमण के दौरान कुम्भ मेला 2019 के आयोजन की तैयारियों का स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने अपने स्थलीय निरीक्षण विभिन्न क्षेत्रों का निरीक्षण करते हुए सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देशित भी किया। इस कार्यक्रम में नगर विकास मंत्री के साथ महापौर अभिलाषा गुप्ता नन्दी, मण्डलायुक्त डॉ. आशीष कुमार गोयल, मेलाधिकारी विजय किरन आनन्द, डीआईजी मेला के.पी. सिंह, उपाध्यक्ष विकास प्राधिकरण भानुचन्द्र गोस्वामी सहित विभागों के उच्चाधिकारीगण थे।
नगर विकास मंत्री का काफिला सर्किट हाउस से निकल कर भारद्वाज पार्क, मेडिकल कालेज चौराहा, सीएमपी डॉट पुल, उ.पू. रेलवे के आर.यू.बी., मेला क्षेत्र, परेड ग्राउण्ड, झूंसी-अन्दावा तथा बख्शी बांध इत्यादि क्षेत्रों से होकर गुजरा जहां कई स्थानों पर मंत्री ने घूम कर कार्यों की प्रगति देखी तथा उनका स्थलीय निरीक्षण किया। नगर विकास मंत्री सर्वप्रथम बालसन चौराहा स्थित भारद्वाज पार्क पहुंचे। जहां पर नगर निगम, इलाहाबाद विकास प्राधिकरण के अधिकारियों के द्वारा पार्क के सौन्दर्यीकरण के लिए कराये जा रहे कार्यो के बारे में नगर विकास मंत्री को विस्तार से बताया गया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि पार्क में लाइटिंग की पर्याप्त व्यवस्था की जाय, जिससे सायं के वक्त आने वाले लोगों को यह पार्क आकर्षक लगे तथा उन्हें किसी प्रकार की असुविधा न हो। उन्होंने कहा कि पार्क में लगाये जाने वाले बोर्ड को हिन्दी एवं अंग्रेजी दोनों भाषाओं में प्रदर्शित किया जाय, जिससे किसी को बोर्ड को पढ़ने पर किसी प्रकार की असुविधा न हो। मण्डलायुक्त ने नगर विकास मंत्री को अवगत कराया कि पार्क में अधिक से अधिक हरियाली लाने का प्रयास किया जा रहा है, जिससे पार्क में चारों तरफ हरियाली का वातावरण प्रदर्शित रहे। नगर विकास मंत्री ने कहा कि पार्क के लिए कराये जा रहे कार्यो को प्रतिदिन पर्ट चार्ट बनाकर समयबद्ध रूप से कार्य पूरा किया जाय।
नगर विकास मंत्री जी का काफिला विभिन्न स्थलों का निरीक्षण करता हुआ संगम क्षेत्र के किला घाट पर आ पहुंचा, जहां पर कराये जा रहे कार्यो की जानकारी विभिन्न कार्यदायी विभागों के अधिकारियों से मा. मंत्री ने ली। नगर विकास मंत्री ने एक-एक कर सभी विभागों के अधिकारियों से कुम्भ मेला मे कराये जाने वाले कार्यो की जानकारी ली। मेलाधिकारी द्वारा नगर विकास मंत्री को अवगत कराया गया कि मेला क्षेत्र का ले-आउट तैयार हो गया है तथा हर सेक्टर मे मूलभूत सुविधाओं दिये जाने के व्यापक प्रबन्ध किये गये हैं। उन्होंने बताया कि जल, विद्युत, खान-पान, सुरक्षा, स्वास्थ्य, दूरसंचार, एटीएम आदि व्यवस्थायें पर्याप्त मात्रा में मेला क्षेत्र में दी जायेगी। उन्होंने बताया कि पण्डालो में भी उच्च स्तरीय व्यवस्थायें की जा रही हैं। मेला क्षेत्र लगभग 3200 हेक्टेयर में बसाया जा रहा है तथा भूमि आवंटन का कार्य भी नवम्बर माह में पूरा कर लिया जायेगा।
नगर विकास मंत्री ने मेला क्षेत्र में विद्युत व्यवस्था की जानकारी लेते हुए विद्युत विभाग के अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देशित किया । उन्होंने मेला क्षेत्र सुचारू विद्युत संचालित रहने के निर्देश विद्युत विभाग के अधिकारियों को दिये। उन्होने मेला क्षेत्र में सोलर लाइटों का भी प्रयोग करने का सुझाव विद्युत विभाग के अधिकारियों को दिया। उन्होंने गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई के कार्यो की जानकारी ली। नगर विकास मंत्री ने गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई के अधिकारियों को निर्देशित किया कटान रोकने के कार्यो में अनुभवी लोगो को ही रखा जाय, इसके लिए विगत कुम्भ में कार्य कर चुके लोगों को इस कार्य हेतु नियुक्त किया जाये। नगर विकास मंत्री ने स्वास्थ्य विभाग के कार्यो की जानकारी ली तथा उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को मेला क्षेत्र में स्वच्छता का विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि स्वच्छता ही मेला की महत्वपूर्ण भाग है, इसमें किसी भी स्तर पर लापरवाही न बरती जाय। मा. नगर विकास मंत्री ने कहा कि सफाई कर्मियों के कार्यो पर नजर रखने के लिए ऐसे सुपरवाइजर नियुक्त किये जाये, जो अपना काम पूरी ईमानदारी एवं लगन से करे। उन्होने कहा कि स्वच्छता के मामलें में सुपरवाइजर किसी प्रकार की लापरवाही करता है तो उसे सीधे बाहर कर दिया जाय।
नगर विकास मंत्री कुम्भ कार्यो का स्थलीय निरीक्षण करने के उपरान्त सर्किट हाउस पहुंचे, जहां पर उन्होंने विभागों के अधिकारियों के साथ कुम्भ कार्यो की समीक्षा बैठक किये।समीक्षा बैठक में मेलाधिकारी विजय किरन आनन्द ने मंत्री जी को बताया कि कुम्भ कार्यों में 616 परियोजनाओं पर कार्य चल रहा है। जिसमें 92 परियोजनाये 30 सितम्बर तक पूरी हो चुकी है तथा शेष परियोजनायें 264 संख्या में 31 अक्टूबर तक तथा शेष नवम्बर के मध्य तक हर हाल में पूरी कर ली जायेंगी। मेलाधिकारी ने पावर प्वाइंट प्रेजेटेंशन के माध्यम से सभी कार्यो का विस्तृत विवरण देते हुए कहा कि सभी कार्य निर्धारित गति से समयबद्ध रूप में पूरे किये जा रहे है। लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के द्वार आश्वस्त किया गया कि पानी टंकी और राम बाग के फ्लाई ओवर 31 अक्टूबर तक हर हाल पूरा हो जायेंगे। इसी तरह सीवर कनेक्शन के कार्य नवम्बर तक पूरा कर लेने का आश्वासन दिया जल निगम के अधिकारियों के द्वारा भी दिया गया। मा. मंत्री जी द्वारा यह निर्देश दिया गया कि सीवर के काम प्रमुम मार्गो के अतिरिक्त सम्पर्क गलियो में भी इसी समयावधि में पूरा करें। अखाडों में चल रहे कार्यो को 31 अक्टूबत तक आठ अखाडों तथा 15 नवम्बर तक शेष सभी अखाडों के सभी काम पूरा कर लेने की जानकारी दी गयी। मण्डलायुक्त डॉ. आशीष कुमार गोयल ने मंत्री जी के समक्ष सभी अधिकारियों से कहा कि काम पूरा करने की जो तिथि आप निर्धारित करे, उस तिथि तक काम को उसकी फिनिशिंग लाइन तक पूरा करे। छोटा से छोटा काम भी अधूरा न रहे। मण्डलायुक्त ने कहा कि कि नगर की सडकों पर से काम करने के साथ-साथ मलबा हटाने का काम भी तेजी से पूरा करते चले। इसी के साथ सड़कों ड्रेसिंग भी साथ-साथ होती रही। मेलाधिकारी द्वारा मंत्री जी को बताया गया कि मेले के हर सेक्टर में वेंडिग जोन होगा जिसमें आवश्यकता की सभी वस्तुओं के साथ-साथ रेस्टोरेंट एवं काफी साफ्ट भी शामिल होंगे जिससे मेला के हर क्षेत्र में निवास करने वालों को उसी स्थान पर सभी सुविधाये मिल जाये। पुलिस महानिरीक्षक श्री मोहित अग्रवाल ने अवगत कराया किय इस बार मेले में यातायात नियंत्रण एवं पार्किंग की सुविधाओं को अत्याधुनिक रूप दिया गया है। 94 पार्किंग स्थलों पर विभिन्न क्षेत्रों में साढे पांच लाख गाडियों के पार्किंग की व्यवस्था की गयी है। 09 रेलवे स्टेशनों से विभिन्न क्षेत्रों के लिए अलग-अलग प्लेटफार्मों से गाडियां चलायी जायेंगी, जिससे अलग-अलग दिशाओं के लिए भीड़ अलग-अलग स्टेशनों पर बंट जायेगी।
नगर विकास मंत्री जी ने कहा कि कुम्भ आयोजन के लिए कराये जा रहे कार्य निर्धारित समय में गुणवत्ता के साथ पूरा किये जायें। उन्होंने कहा कि कुम्भ कार्यो में किसी प्रकार की शिथिलता या लापरवाही करने वालो लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने कहा कि इलाहाबाद में कुम्भ के दृष्टिगत ऐतिहासिक कार्य कराये जा रहे है, जिसे आने वाले लोगों के लिए एक आकर्षक का केन्द्र बनेंगे।मा. नगर विकास मंत्री ने कुम्भ कार्यो की समीक्षा बैठक में अधिकारियों को सीधे तौर पर कहा कि कुम्भ कार्यो के लिए निर्धारित किये गये समय में ही कार्यो को पूरा किया जाय तथा इस बात का भी विशेष ध्यान रखे कि कार्यो की गुणवत्ता के साथ कोई खिलवाड़ न किया जाय। मा. मंत्री जी ने अब तक किये गये कार्यो के सम्बन्ध में सभी अधिकारियों की तारीफ भी की और कहा कि बहुत कम समय में इलाहाबाद में बहुत से कार्य पूर्णतः की ओर दिख रहें है जो अपने आप में अभूतपूर्व है। यह अधिकारियों की अथक मेहनत और समन्वय से सम्भव हो सका है।उन्होंने कहा कि फिर भी इस मेले के आयोजन को पूरी तरह फूल प्रूफ बनाना है तथा कही से कोई कसर नही छोडनी है इसके लिए आप सभी सजग होकर अपने काम को समय से पूरा करे। मंत्री जी ने कहा कि सड़के जिस तरह इलाहाबाद में चौडी हो रही है बरसों पूराने अतिक्रमण जिस शान्ति और सद्भावना से हटा दिये गये, वह सराहनीय है। उन्होने कहा कि समयबद्ध एवं गुणवत्ता पूर्ण कार्य कराने का सरकार के संकल्प सभी विभाग के अधिकारी पूरी लगन एवं निष्ठा के साथ पूरा करें। उन्होने कहा कि कुम्भ मेला को भव्य एवं दिव्य बनाने के लिए केन्द्र एवं उ.प्र. सरकार कृत संकल्पित है। अतः इस पुण्य कार्य में अपनी व्यक्तिगत रूचि लेते हुए इस आयोजन को सफल बनाने में सहयोगी बने।