बच्चों के शारीरिक व बौद्धिक विकास के लिये एम आर का टीका जरूर लगवाए – जिलाधिकारी

40

अमेठी से अशोक श्रीवास्तव की रिपोर्ट

उत्तर प्रदेश के अमेठी के होटल इंटरनेशनल में विश्व स्वास्थ्य संगठन की टीम ने जिलाधिकारी व सी एम ओ अमेठी की अध्यक्षता में स्वास्थ्य एवम परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार की तरफ बच्चों में होने वाली बीमारियों के बारे में, जिससे बच्चों का शारीरिक व बौद्धिक विकास रुक जाता है, उसके बारे में जिले के शिक्षा व ब्लॉक स्तर से आये हुए अधिकारियों को बताया गया।

विश्व स्वास्थ्य संगठन की तरफ से आये हुए टीम की डॉ वंदना ने बच्चों को होने वाली मीजल्स रूबेला नामक बीमारी के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि ये एक गम्भीर बीमारी है जिससे बच्चों का विकास रुक जाता है। एम आर का टीका हर बच्चे को लगना बहुत जरूरी है। यदि पहले भी लग चुका है तो भी उसे अतिरिक्त खुराक का टीका जरूर लगाएं।

डी एम अमेठी ने सभी अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि सभी प्राइमरी से लेकर जूनियर स्कूलों व मदरसों के बच्चों को एम आर का टीका जरूर लगाया जाये। उन्होंने आये हुए अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिया कि इस गम्भीर बीमारी से बचाव के टीकाकरण में कोई भी बच्चा छूटना नहीं चाहिए, इसे पूरी जिम्मेदारी से किया जाए। यह 5 सप्ताह का अभियान चलाया जा रहा है। इसकी पूरी मॉनिटरिंग की जाएगी।

आये हुए खण्ड शिक्षा अधिकारियों,बाल विकास परियोजना, जिला विद्यालय निरीक्षक के प्रतिनधि को जिलाधिकारी ने स्पष्ट रूप से कहा इस टीकाकरण अभियान में कोई बच्चा छूटना नहीं चाहिए। यदि पहले दिन किसी कारण से बच्चा नहीं मिल पाता है तो अगले दिन उसे टीका जरूर लगाएं।