जबरन खेतिहर मजदूर बनाकर अधिकारियों ने दिया 67 ए कब्जे का लाभ

34

के के मिश्रा अमेठी की रिपोर्ट

पात्र गृहस्थी कार्ड, आलीशान मकान, इनोवा लग्जरी वाहन, मोटरसाइकिल व राजकीय सस्ते गल्ले की दुकान,परिजन परिजन परदेस में करते हैं नौकरी/व्यापार

मामला अमेठी तहसील की ग्राम सभा धोये साकरमाना पट्टी का है।  ग्राम पंचायत के निवासी स्वामीनाथ यादव पुत्र रामदीन यादव पात्र गृहस्थी योजना के अंतर्गत राशन कार्ड संख्या 27513 024 3405 का लाभ ले रहे हैं इन्हें राजस्व ग्राम साकरमाना पट्टी के खसरा संख्या 282 में 67 ए का लाभ 10-7-18 को नवीन परती में आबादी के रूप में दिया गया जबकि स्वामीनाथ यादव पुत्र रामदीन यादव के दो पक्के मकान गांव में ही मौजूद है।

स्वामीनाथ यादव पुत्र रामदीन यादव निवासी साकरमाना पट्टी हरियाणा प्रांत के जिला पंचकूला ब्लॉक व तहसील पंचकूला के इंदिरा नगर कॉलोनी के मकान संख्या 1442  का मकान है तथा वर्ष 2006 से राजकीय सस्ते गल्ले की दुकान के उचित दर विक्रेता की दुकान जानकी देवी पत्नी स्वामीनाथ यादव के नाम है। हरियाणा प्रान्त के पंचकूला की मतदाता सूची में भी स्वामीनाथ यादव पुत्र रामदीन के पुत्र जितेंद्र कुमार पुत्र स्वामीनाथ मतदाता क्रमांक आई जे सी 013 9147 पर दर्ज है। स्वामीनाथ यादव के नाम लग्जरी वाहन इनोवा वाहन संख्या एच आर 68 ए 2424 आरटीओ पंचकूला हरियाणा में पंजीकृत है ।

हल्का लेखपाल सतीश चंद्र गुप्ता से दूरभाष पर जब इस संवाददाता ने बात किया तो उन्होंने कहा कि स्वामीनाथ यादव पुत्र रामदीन व राम मूरत यादव पुत्र राम सुमेर यादव दोनों अवैधानिक कब्जा किए हैं उन्हें 67 ए का लाभ नहीं दिलाया गया है। स्वामीनाथ यादव के पास और कोई पक्का मकान नहीं है , शिकायत बेबुनियाद है ।  जबकि पीड़ित राम मूरत यादव पुत्र राम सुमेर यादव ने बताया कि स्वामीनाथ यादव का गांव में दो पक्का मकान, इनोवा डीजल कार वाहन संख्या एच आर 68 ए 2424 व मोटरसाइकिल के साथ ढाई से 3 बीघा खेत भी है। इसके अलावा स्वामीनाथ की पत्नी जानकी देवी के नाम से वर्ष 2006 से ही हरियाणा प्रांत के तहसील व ब्लाक पंचकूला में इंदिरा कॉलोनी में सरकारी डिपो जो खाद्यान्न की बिक्री करती हैं , और आज तक दुकान संचालित की जा रही है। उनके बेटे जितेंद्र कुमार का मतदाता क्रमांक 417 व  एम जेड एच 2368942 पर अंकित है । यही नहीं अमेठी के ग्राम पंचायत धोएं साकरमाना पट्टी में पात्र गृहस्थी राशन कार्ड संख्या 27518 2405 में जानकी देवी, स्वामीनाथ, जितेंद्र, साहिल,व काजल का भी नाम अंकित है ।

अपात्रता की इतनी भरमार होने के बावजूद खेतिहर मजदूर का लाभ राजस्व विभाग के अधिकारी कर्मचारी नियम की अनदेखी कर दिए हैं जिससे समझा जा सकता है कि शिकायतों को दरकिनार कर किसी दबाव में 67 ए का लाभ दिया गया है ।

तत्कालीन उपजिलाधिकारी अमेठी प्रियंका सिंह के आदेश 20 मार्च 2018 को ग्राम माना पट्टी साकर के नवीन परती खाता संख्या 270 के गाटा संख्या 279 मि0/0.01 3 हेक्टेयर को खारिज कर श्रेणी 6 आबादी खाते में अंकित किया गया। आदेश कंप्यूटर खतौनी में 10 जुलाई 2018 को अंकित किया गया  और लेखपाल सतीश चंद्र गुप्ता ने 27 फरवरी 2018 को स्वामीनाथ यादव पुत्र रामदीन को 13 मई 2007 के पूर्व का मकान बताया है। आदेश में साफ तौर पर लिखा गया है कि वादी के पास उक्त मकान के अलावा और कोई मकान नहीं है। हल्का लेखपाल ने सही तथ्य को छिपाकर व अधिकारी को गुमराह कर आदेश करवा दिया जबकि आदेश सत्यता के परे है।  लाभार्थी की जाती अहीर जो पिछड़ी जाति है ,उत्तर प्रदेश राजस्व संहिता 2006 की धारा 67 ए के अंतर्गत लाभ प्रदान करने की कृपा भेजी है । राजस्व निरीक्षक ने लाभ पाने के पात्र होने की रिपोर्ट तहसीलदार अमेठी को भेजी है

राजस्व विभाग अमेठी ने किया अनोखा कारनामा

रिश्वत ने अधिकारी कर्मचारी की आंखें  की बंद,

20 मार्च 2018 को धारा 67 ए का लाभ दे दिया गया

शिकायतकर्ता को 26 अप्रैल 2018 को मुकदमा विचाराधीन होने की राजस्व विभाग ने दी सूचना ।