जिलाधिकारी ने की जिले के विकास कार्यो की मासिक समीक्षा बैठक, तीन खण्ड विकास अधिकारियों को कठोर चेतावनी सभी अधिकारी अपने – अपने निर्माण कार्यों का स्वयं निरीक्षण करें – डी0एम0

अशोक श्रीवास्तव अमेठी

जिलाधिकारी शकुन्तला गौतम की अध्यक्षता में कलेक्टेट सभागार में शासकीय योजनाओं की प्रगति तथा कर करेत्तर की मासिक समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने सभी विभागों की बिन्दुवार समीक्षा की। उन्होंने शासन की मंशा के अनुरुप विकास कार्यांे को शतप्रतिशत लागू करानें का निर्देश दिया। साथ ही जन शिकायतांे का निस्तारण सर्वोच्च प्राथिमिकता के आधार पर निस्तारित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कर करेत्तर की समीक्षा के दौरान सभी अधिकारियों को लक्ष्य के सापेक्ष वसूली करने के निर्देश दिये। उन्होंने 02 लाख से ऊपर के बकायेदारों की वसूली कराने के निर्देश अपर जिलाधिकारी को दिया। जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी को सभी तहसीलवार राजस्व वसूली की समीक्षा बैठक कर कम वसूली करने वाले उपजिलाधिकारी व तहसीलदार को कठोर चेतावनी देने के निर्देश दिये। उन्होंने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को अपना क्रमिक लक्ष्य शत प्रतिशत पूरा करने के निर्देश दिये।उन्होंने आई0जी0आर0एस0, मुख्यमंत्री संदर्भ, आनलाइन संदर्भ से प्राप्त शिकायतों का समयबद्ध व गुणवत्तापूर्ण निस्तारण करने के निर्देश सभी अधिकारियों को दिये।
जिलाधिकारी ने बैठक के दौरान जिला पंचायतराज अधिकारी को सभी खराब हैण्डपम्प को ठीक कराने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने मनरेगा व मानव दिवस सृजन कार्यक्रम की धीमाी प्रगति पर खण्ड विकास अधिकारी भादर, बहादुरपुर व अमेठी को कड़ी चेतावनी देने के निर्देश दिये। उन्होंने सभी अधिशासी अधिकारियों को नगर पालिका/नगर पंचायतों में स्ट्रीट लाइट की जगह एल0ई0डी0 लगाने के कार्य में धीमी प्रगति पर कड़ी फटकार लगाते हुए इसी माह में कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिये।
जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों को कडी चेतवानी देते हुये कहा कि विकास कार्यों मेे तेजी लाने के साथ ही सभी अधिकारियों को शासन की ओर से संचालित जन कल्याणकारी योजनाओ का पारदर्शी ढंग से क्रियान्वयन कराते हुए पात्रों का लाभ दिलाने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को विकास कार्यों में लापरवाही बरतने पर कार्यवाही करने की चेतावनी दी। उन्होंने सभी कार्यदायी संस्थाओं को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि सभी निर्माण कार्य 15 दिसम्बर तक अवश्य पूर्ण करें। उन्होंने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्दशित करते हुए कहा कि सभी अधिकारी अपने – अपने निर्माण कार्यों का स्वयं निरीक्षण करेंगे।
जिलाधिकारी ने समाज कल्याण, उद्यान विभाग, मनरेगा, खाद्य सुरक्षा आदि सभी विभागों के कार्यों की प्रगति की बिन्दुवार समीक्षा की । जिलाधिकारी ने जिला कृषि अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि फसल ऋण मोचन से संबंधित जो भी शिकायतें प्राप्त होती है उन्हें तत्काल निस्तारण करायें। उन्होंने विद्युत विभाग को निर्देशित किया कि सौभाग्य योजना के अन्तर्गत जनपद को जल्द से जल्द पिद्युतीकरण किया जाए तथा पोल वे तार की भी जानकारी ली। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को अपने -अपने विभागों की साप्ताहिक समीक्षा करने के निर्देश दिये।
बैठक में जिला विकास अधिकारी बंशीधर सरोज, प्रभागीय वनाधिकारी करन सिंह गौतम, मुख्य चिकित्साधिकारी राजेश मोहन श्रीवास्तव, बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी सहित समस्त जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।