आरोपों प्रत्यारोपों के बीच नगर पंचायतअमेठी में शाह मात का खेल शुरू

102

राज कुमार जायसवाल अमेठी की रिपोर्ट

उत्तर प्रदेश के अमेठी की नगर पंचायत अमेठी में विकास कार्यों को लेकर सभासद हरिशंकर जायसवाल ने शौचालय निर्माण व चौराहों पर लगी हाई मास्ट लाइटों की खरीद फ़रोख़्त में नगर पंचायत अध्यक्षा चंद्रमा देवी पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि एलइडी स्ट्रीट लाइट जो उन्होंने 2017 में लगवाया था उसका बाजार मूल्य 2800 से ₹3000 तक है जबकि नगर पंचायत में रू 5600 से ₹5800 मूल्य एक स्ट्रीट लाइट पर पेमेंट किया है। और वार्ड नंबर 2 के शौचालय लाभार्थी श्याम लाल और सभासद रामानंद द्वारा महेश सोनी ठेकेदार पर लगाया गया आरोप सही है, मैं इसकी शासन प्रशासन से उच्चस्तरीय जांच करवाने की मांग करता हूं।

तो वही नगर पंचायत अध्यक्षा चंद्रमा देवी ने एक प्रेस वार्ता कर सभासद द्वारा लगाए गए सभी आरोपों को बेबुनियाद करार दिया है। उन्होंने कहा कि दलाल टाइप के लोगों की दाल नहीं गल रही है इसलिए ऐसे ओछे आरोप लगाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि हाई मास्ट लाइट के खरीद में किसी तरह की कोई धांधली नहीं हुई है। इसकी जांच हरिशंकर की शिकायत पर मजिस्ट्रेट द्वारा की गई है जिसमें वह निर्दोष साबित हुई हैं। और वार्ड नंबर 2 के सभासद रामानंद द्वारा शौचालय निर्माण में कमीशन खोरी का यह आरोप पूरी तरह बेबुनियाद है। नगर पंचायत अमेठी द्वारा नगर में सभी लाभार्थियों को उनके बैंक खाते में पैसे भेजे जा रहे हैं। जब कि लाभार्थी श्याम लाल ने भी आरोप लगाया है कि ठेकेदार महेश सोनी ने शौचालय निर्माण के लिए उनसे 3 हजार रुपये लिए हैं तो वहीं महेश सोनी ने बताया कि न तो मैंने शौचालय बनवाने का ठेका लिया है और न ही किसी तरह से निर्माण कार्यों से हमे मतलब है। ये किसी साजिश के तहत कहलवाया जा रहा है और मेरे साफ सुथरे छवि को धुंधला करने का प्रयास किया जा रहा है।

बाईट- लाभार्थी श्याम लाल

बाईट – सभासद हरि शंकर जायसवाल