गिरफ्तार अभियुक्त अभिषेक ने पुलिस द्वारा पूछताछ में क्या क्या बताया?

112

थाना पट्टी पर पंजीकृत मु0अ0सं0- 143/18 धारा 307, 506 भादवि में फरार चल रहे वांछित व पुरस्कार घोषित अभियुक्त अभिषेक पुत्र नेपाल सरोज नि0 कोहड़ौर थाना कोहड़ौर जनपद प्रतापगढ़ के मुम्बई क्राइम ब्रान्च पुलिस द्वारा पकड़े जाने की सूचना पर थाना पट्टी के उ0नि0 सुनील कुमार गुप्ता व प्रभारी निरीक्षक अंतू संजय यादव पुलिस बल के साथ दिनांक 20.09.2018 को मुम्बई क्राइम ब्रान्च पहुंचे। वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक कक्ष संख्या – 09 बान्द्रा पश्चिम, मुम्बई से उक्त अभियुक्त जो कि संदही अभियुक्त के रुप में गिरफ्तार किया गया था, उसे मा0 न्यायालय के समक्ष पेश कर 72 घण्टे का ट्रान्जिट रिमाण्ड लेकर वापस दि0 22.09.2018 को थाना पट्टी आये।

गिरफ्तार अभियुक्त अभिषेक ने पुलिस द्वारा पूछताछ में बताया किः-

दिनांक 17.06.2018 को मैं व अंकूर उर्फ हब्बू नि0 मधुरा रानीगंज थाना कोहड़ौर व सुनील पुत्र जंत्री नि0 वासुपुर, विपिन पुत्र अजय नि0 कोहड़ौर थाना कोहड़ौर जनपद प्रतापगढ़, जय प्रताप सरोज पुत्र बृजलाल नि0 बेलसौना थाना पीपरपुर जनपद सुल्तानपुर की बारात में भिवनी पट्टी गये थे, जिसमें मैंने, अंकूर उर्फ हब्बू, सुनील तथा विपिन हम चारो लोग मिलकर फायरिंग कर रहे थे, तो वहां पर शिव प्रताप नाम के व्यक्ति ने हमें फायरिंग करने से मना किया तो उससे हम लोगों की कहा-सुनी हो गयी और रात 09ः30 बजे द्वारचार के दौरान अंकुर उर्फ हब्बू ने चिल्लाते हुए उसे गोली मार दी, फिर हम सभी लोग अपनी स्कार्पियो गाड़ी वहीं छोड़कर भाग निकले।

दिनांक 25.07.2018 को सायं 07ः30 बजे मैं, हब्बू उर्फ अंकूर सरोज, सद्दाम व राका मधुरा रानीगंज में एक भट्ठे के पास बाग में मौजूद थे तो हब्बू उर्फ अंकूर सरोज, सद्दाम व राका ने कहा कि श्याम मूरत जायसवाल व राम मूरत जायसवाल नि0 कोहड़ौर से पैसे मांगे थे, जिसने पैसा नहीं दिया है, पैसा लेने चलना है और ये लोग अपाचे मोटर साइकिल से श्याम मूरत जायसवाल व राम मूरत जायसवाल नि0 कोहड़ौर के यहां पैसे लेने गये थे पैसे ना देने पर इन लोगों ने श्याम मूरत जायसवाल व राम मूरत जायसवाल नि0 कोहड़ौर की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

दिनांक 10.09.2018 को रात्रि समय करीब 08ः40 बजे कोनी बाजार की तरफ से मैं, अंकूर उर्फ हब्बू, सद्दाम पुत्र फारुक नि0 बासुपुर थाना कोहड़ौर व मोहम्मद नान्हू पुत्र आसिफ अली नि0 जियोतिया थाना कंधई, तौसिक पुत्र मंगरु नि0 बहरुपुर थाना कंधई, पांचों लोग 02 अपाचे मोटर साइकिल से कोनी स्थित अदिति पेट्रोल पंप पर पेट्रोल भराने पर, सेल्समैन ने पैसा मांगा तो उसी वक्त नीली अपाचे से तौसिक मेरे पास आ गया, मेरे पीछे बैठे सद्दाम ने कहा कि साले पैसा मांग रहा है, अभी देता हूॅं, और मोटर साइकिल से नीचे उतर गया और उसके नीचे उतरते ही अंकूर उर्फ हब्बू और नीली अपाचे से नान्हू व राका उतरकर दोनों ने सेल्समैन को पिस्टल सटाकर उसके 1500 रु0 निकालकर कोनी की तरफ भागने लगे। वहां मौजूद 02 लोगों द्वारा हम पर ईट फेंककर मारा गया जिस पर अंकूर उर्फ हब्बू सरोज ने उन पर फायर कर दिया और हम भाग निकले।

दिनांक 11.09.2018 को हम सभी लोगों ने सुल्तानपुर जिले के लम्हुआ में बैंक की लूट की थी, वहां पर भी यही गाड़ियां हमारे पास थी और लूट का पैसा अंकूर उर्फ हब्बू के पास है।

दिनांक 14.09.2018 को उ0प्र0 ग्रामीण बैंक बड़ौदा, जगेसरगंज में मैं व अंकूर सरोज उर्फ हब्बू, सद्दाम, तौसिक, नान्हू और राका ने मिलकर लूट की थी। हमलोगों के पास सफेद व नीले रंग की अपाचे गाड़ी थी। इस लूट में हमलोगों को लगभग 06 लाख रुपये मिले थे।

अंकूर सरोज उर्फ हब्बू व सद्दाम ये लोग इंजामुलहक पुत्र शेर अली नि0 मधुरारानीगंज थाना कोहड़ौर जनपद प्रतापगढ़ जो सउदी में रहता है के द्वारा राजकुमार नि0 लाखीपुर थाना कोहड़ौर को उनके मोबाइल नम्बर 7379616951 पर धमकी देते हुए पांच लाख रुपये की मांग किया था तथा अंकूर सरोज उर्फ हब्बू व सद्दाम ने श्याम मूरत जायसवाल को दिनांक 06.05.2018 को उनके मोबाइल नम्बर 7054837093 पर धमकी देते हुए पांच लाख रुपये की मांग की थी।

श्याम मूरत जायसवाल व राम मूरत जायसवाल नि0 कोहड़ौर की हत्या होने के बाद जाम लगाने में बढ़चढकर हिस्सा लेने वाले लोगों को भी हमने इन्टरनेट कालिंग के माध्यम से रंगदारी मांगी गयी थी न देने पर हत्या की धमकी दी गयी थी।

जनपद में कई अपराध होने के बाद पुलिस की अतिसक्रियता सेे हमलोग पुलिस से बचने के लिए हमलोग इधर-उधर भाग गये। मैं मुम्बई चला गया था। हमने जितनी भी घटनाएं की हैं उसमें मैंने जो रिवाल्वर इस्तेमाल किया था उसे मुम्बई जाने से पहले अपने दीदी कुसुम के यहां ग्राम कांधरपुर में छिपाकर रख दिया था।

अभियुक्त अभिषेक सरोज की निशानदेही पर उसकी दीदी कुसुम के यहां ग्राम कांधरपुर के घर से उक्त घटनाओं में प्रयुक्त 01 अदद रिवाल्वर व 02 अदद कारतूस को बरामद कर विधिक कार्यवाही की जा रही है।