जिला स्वास्थ्य समिति की जिलाधिकारी ने की समीक्षा एवं दिये आवश्यक दिशा निर्देश

प्रतापगढ़ :-जिलाधिकारी शम्भु कुमार की अध्यक्षता में आज कैम्प कार्यालय के सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति (शासी निकाय) की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि गर्भवती महिलाओं का प्रसव प्राइवेट अस्पतालों में न कराया जाये बल्कि सरकारी अस्पतालों में इनका प्रसव कराया जायें। उन्होने कहा कि सरकारी अस्पतालों में प्रसव कराने हेतु आशा, एनम और आंगनबाड़ी कार्यकत्री गर्भवती महिलाओं को प्रेरित करें और सरकार द्वारा संचालित योजनाओं के विषय में उनको जानकारी उपलब्ध कराये। इस सम्बन्ध में जिन आशा, एनम एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों द्वारा लापरवाही बरती जा रही हो उनके खिलाफ चेतावनी जारी की जाये। उन्होने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित करते हुये कहा कि प्रत्येक ब्लाकों में 5-5 आशायें ऐसी चिन्हित की जाये जो बिल्कुल कार्य नही कर रही है उनको हटा करकें उनके स्थान पर नई आशा एवं एनम की तैनाती की जाये। उन्होने कहा कि प्रत्येक स्वास्थ्य और आंगनबाड़ी केन्द्रों पर गर्भवती महिलाओं के लिये प्रसव पूर्व टीकाकरण, खून की जांच, रक्तचाप तथा गर्भ के दौरान बरती जाने वाले सावधानियों एवं खान-पान आदि से सम्बन्धित आवश्यक जानकारियों पर आधारित सूचना अंकित की जाये।
जिलाधिकारी ने समीक्षा बैठक में कहा कि जननी सुरक्षा योजना का संचालन पूर्ण गुणवत्ता और मानक के अनुरूप करें एवं प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर विश्वसनीयता को बढ़ाया जाये। नवजात शिशु टीकाकरण किसी भी चिकित्साधिकारी के क्षेत्र में 75 प्रतिशत से कम हुआ तो उसके खिलाफ कार्यवाही की जाये। उन्होने सी0एम0ओ0 को यह भी निर्देश दिये कि आशा, एनम और आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों की बैठक संयुक्त रूप से आयोजित करें। घर-घर सर्वे के आधार पर बच्चों की सूची तैयार करें इस सूची के आधार पर नवजात शिशुओं का टीकाकरण कराये। उन्होने कहा कि जिन आशाओं के मानदेय का भुगतान समय से नही किया जाता हो उनका भुगतान समय सीमा के अन्तर्गत ही कर दिया जाये।
बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 ए0के0 श्रीवास्तव ने अवगत कराया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बाबागंज में कार्य कर रहे संविदा कर्मचारियों द्वारा कार्य में लापरवाही व शिथिलता बरती जा रही है जिस पर जिलाधिकारी ने सी0एम0ओ0 को निर्देशित किया कि इन संविदा कर्मचारियों को अन्तिम चेतावनी जारी करें यदि कार्य में सुधार नही पाया जाता है तो उनकी सेवा समाप्त करके नये कर्मचारियों की तैनाती की जाये। बैठक में यह भी बताया गया कि मिजिल्स रूबेला टीकाकरण अभियान 26 नवम्बर 2018 से चलाया जायेगा एवं इस दिन लोगों को जागरूक करने के लिये रैली भी निकाली जायेगी।
इस अवसर पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अशोक कुमार सिंह सहित स्वास्थ्य विभाग तथा सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के अधिकारी भी उपस्थित रहे।