मामा-भांजे को गोली मारने वालों में से 01 और अभियुक्त गिरफ्तार

174

प्रतापगढ़ :-19.11.2018 को वादी रामदुलार पुत्र स्व0 रामदास नि0 बगियापुर लहरा थाना जेठवारा जनपद प्रतापगढ़ द्वारा थाना जेठवारा में तहरीर दी गयी कि आज ही दिनांक 19.11.2018 को सायं 05ः30 बजे गोलू तथा इश्तियाक पुत्रगण मोहर अली नि0 पूरे मोतीलाल थाना जेठवारा, प्रतापगढ़ तथा उनके 07 साथी नाम-पता अज्ञात 04 मोटर साइकिल से आये और मेरे नाती सूरज को जान से मारने की नियत से, मारो साले चमार कहते हुए दौड़ाकर मेरे घर व स्कूल के बीच उसकेे सिर में गोली मार दिये। मैं शोर मचाया तो मेरा लड़का मंजीत रास्ते में उनको भागते समय रोकना चाहा तो उन लागों द्वारा उसको भी सीने में गोली मार दी गयी और सभी लोग धमकी देते हुए भागने लगे। अभियुक्तगण को ग्रामीणों द्वारा घेर लिया गया, इस पर जल्दबाजी में अभियुक्तों ने मौके पर ही एक मोटर साइकिल छोड़कर भाग गये जिसे आक्रोशित भीड़ ने आग लगा दी।

वादी की इस सूचना/तहरीर पर थाना अंतू में मु0अ0सं0- 588/18 धारा 147, 148, 149, 307, 323, 504, 506 भादवि व 3(2)5 एससी/एसटी एक्ट का अभियोग पंजीकृत किया गया।

पुलिस अधीक्षक प्रतापगढ़ द्वारा उक्त घटना के अनावारण हेतु थाना जेठवारा के प्रभारी निरीक्षक मनीष पाण्डेय को कड़े निर्देश दिये गये। इस निर्देश के क्रम में प्रभारी निरीक्षक मनीष पाण्डेय द्वारा पुलिस की कई टीम तैयार कर इस काम में लगा दी गयीं व खास मुखबीरों को भी सतर्क कर दिया गया। परिणाम स्वरुप दिनांक 22.11.2018 को उ0नि0 नागेन्द्र प्रसाद सिंह मय हमराह के एक अभियुक्त दिलशाद अली को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था तथा अन्य अभियुक्तों के गिरफ्तारी का प्रयाज जारी रहा। इसी क्रम में दिनांक 27.11.2018 को उ0नि0 नागेन्द्र प्रसाद सिंह मय हमराह द्वारा थानाक्षेत्र जेठवारा के बगियापुर मोड़ से एक और अभियुक्त रफीक उर्फ गोलू को मुखबीर खास की सूचना पर गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त रफीक उर्फ गोलू के कब्जे से 01 अदद तमंचा व 02 कारतूस बरामद किये गये।

गिरफ्तार अभियुक्त का विवरणः-

01. रफीक उर्फ गोलू पुत्र मोहर अली नि0 पूरे मोतीलाल थाना जेठवारा, प्रतापगढ़।

बरामदगीः-

01. एक अदद तमंचा 315 बोर।
02. दो अदद कारतूस 315 बोर (एक जिन्दा व एक खोखा कारतूस)

उपरोक्त बरामदगी के सम्बन्ध में उक्त अभियुक्त के विरुद्ध मु0अ0सं0- 597/18 धारा 3/25 आम्र्स एक्ट का अभियोग पंजीकृत किया गया है।

पुलिस टीमः- उ0नि0 नागेन्द्र प्रसाद सिंह मय हमराह।