रायबरेली: विद्या मंदिर इण्टर कालेज लालगंज में सम्पन्न हुआ संकुल स्तरीय आचार्य विकास वर्ग का प्रशिक्षण

32

रायबरेली। बरातीलाल गंगाराम सरस्वती विद्या मंदिर इण्टर कालेज लालगंज में संकुल स्तरीय आचार्य विकास वर्ग प्रशिक्षण संपन्न हुआ। जिसमें रायबरेली जिले के तेरह विद्यालय में कार्यरत दो सौ से अधिक शिक्षक शिक्षिकाओं ने प्रतिभाग किया। कार्यक्रम का प्रारंम्भ माँ शारदे की वन्दना एवं दीपप्रज्वलन से हुआ। आचार्य विकास वर्ग के प्रशिक्षण में प्रभावी शिक्षण के साथ साथ छात्र छात्राओं के व्यक्तित्व विकास एवं नैतिक एवंं आध्यात्मिक विकास के विभिन्न आयाम विद्या भारती के विषय विशेषज्ञों द्वारा बताये गये।
         कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रदेश निरीक्षक राजेन्द्र यादव ने कहा कि जीवन मे गुरु का स्थान सर्वोपरि होता है। बालक बालिका अपने गुरु के सानिध्य में शिक्षा प्राप्त कर जीवन में अपने लक्ष्य को प्राप्त करता है।इसीलिये एक आदर्श शिक्षक का जीवन किसी तपस्वी से कम नही होता है। अपने शिष्यों के समक्ष उसे खुद उदाहरण बनना होता है जिससे प्रभावित होकर उसके शिष्य जीवन भर शिक्षक को देवतुल्य सम्मान देते हैं। श्री यादव ने कहा कि विद्याभारती का लक्ष्य छात्र का सर्वांगीण विकास करना है। शैक्षिक विकास के साथ ही छात्रों का शारीरक नैतिक आध्यात्मिक एवम सामाजिक विकास करना होता है ताकि भविष्य में अनुशासित कर्तव्यनिष्ठ एवं देशभक्त नागरिक बन सके। प्रदेश निरीक्षक राजेन्द्र यादव ने ही विद्या भारती के आयामों शारीरक शिक्षा नैतिक एवंआध्यात्मिक शिक्षा संस्कृत शिक्षा सगीत शिक्षा एवं योग शिक्षा पर विस्तार से चर्चा करते हुए आज के युग में इन आयामों को महत्वपूर्ण बताया। इस कार्यक्रम में बरातीलाल गंगाराम सरस्वती विद्या मंदिर इण्टर कालेज लालगंज के प्रबन्धक प्रदीप मिश्रा लखनऊ संभाग निरीक्षक कमलेश सिंह गोपाल सरस्वती विद्या मंदिर इण्टर कालेज के प्रधानाचार्य एवं संकुल प्रमुख बालकृष्ण सिंह सरस्वती विद्या मंदिर एनटीपीसी ऊँचाहार के प्रधानाचार्य विन्ध्यवासिनी प्रसाद त्रिपाठी बराती लाल गंगाराम सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य नरेन्द्र कुमार मिश्र, सुरेश कुमार पाठक एवम् वरिष्ठ आचार्य चन्द्र प्रकाश पाण्डेय दिनेश दीक्षित अमरेश सिंह राजेन्द्र पाण्डेय मनोज अवस्थी सहित समस्त आचार्य परिवार उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन विन्ध्यवासिनी प्रसाद त्रिपाठी ने किया। सरस्वती शिशु मंदिर ऊँचाहार के प्रधानाचार्य गजाधर प्रसाद मिश्र ने आभार ज्ञापित किया।
रिपोर्ट:- आर0के0पाण्डेय