प्रसव के दौरान जच्चा-बच्चा की हुई मौत

45

सेमरी (सुल्तानपुर) स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में शुक्रवार की रात प्रसव के दौरान एक महिला की हालत बिगड़ गई मृत बच्ची पैदा होने के बाद रक्तस्त्राव शुरू हो गया इसे रोक पाने में नाकाम चिकित्सकों ने प्रसूता को जिला अस्पताल रिफर कर दिया लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई घटना है जयसिंहपुर कोतवाली क्षेत्र के चांदपुर गांव निवासी आसाराम की पत्नी रीना 32 को शुक्रवार को सेमरी पीएचसी लाया गया था रात करीब 8:00 बजे उन्हें मृत बच्ची पैदा हुई रीना को रक्त स्त्राव होने लगा जिसे चिकित्सक रोक नहीं सके और नाकाम रहे समय से जिला अस्पताल भी उन्हें नहीं पहुंचाया जा सका इसके चलते जच्चा बच्चा दोनों की ही मौत हो गई परिजनों ने कहा बरती गई लापरवाही आसाराम ने कहा कि पत्नी रीना के प्रसव मे लापरवाही बरती गई वक्त पर सही इलाज होता तो जच्चा बच्चा की जान बच जाती उसने बताया कि शुक्रवार को दिन में 11:00 बजे प्रसव पीड़ा होने पर को बुलाया गया उन्होंने पीएचपी के बजाय अपने घर पर भर्ती कर लिया शाम 7:00 बजे रीना को एक मृत बची हुई उसके बाद पत्नी को तेज रक्तस्त्राव होने लगा वह देर तक अपने आवासीय नर्सिंग होम पर ही इलाज करती रही जब हालत खराब होने लगी तो आनन-फानन में जिला अस्पताल रेफर कर दिया परंतु अस्पताल पहुंचने से पहले ही रास्ते में उसने दम तोड़ दिया परिजनों का कहना है कि चिकित्सकों की लापरवाही से दोनों की जान चली गई अगर यह लोग समय से पहले इलाज किया होता तो शायद दोनों की जान बच गई होती इस घटना से परिवार में हाहाकार मच गया है सबका रो रो कर बुरा हाल हो गया है!

सुल्तानपुर से बृजेश मिश्रा की रिपोर्ट